Tuesday, 12 December 2017

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार 


शरीर की प्रणाली असंतुलित होने पर यीस्‍ट की समस्‍या होती है। इसमें योनि में जलन, खुजली, गाढ़ा सफेद डिस्चार्ज आदि की समस्‍या होने लगती है। लेकिन अपनी कुछ आदतों को बदलकर आप इस समस्‍या से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं।
1. यीस्‍ट संक्रमण
शरीर में यीस्‍ट के बहुत अधिक बढ़ जाने से बहुत सी महिलाओं को यीस्‍ट संक्रमण की समस्‍या हो जाती है। आमतौर पर यह तभी होता है जब आपके शरीर की प्रणाली असंतुलित हो जाती है। और आपके शरीर में जीवाणु और यीस्ट का संतुलन बिगाड़ कर यीस्ट को बहुत अधिक बढ़ा देता है। यीस्ट इन्फेक्शन में खुजली और दर्द होता है लेकिन इसका इलाज आसान है और जल्दी ही इससे छुटकारा भी मिल जाता है।
2. यीस्‍ट संक्रमण कैसे होता है ?
आमतौर पर डायबिटीज के मरीजों को हाई ब्लड शुगर की वजह से यीस्ट इन्फेक्शन की समस्या होती है। एचआईवी पॉजिटिव होने पर डॉक्टर द्वारा दी गई एंटीफंगल दवाओं के कारण भी यीस्ट इन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा ज्‍यादा चीनी के सेवन व इम्यून सिस्‍टम की कमजोरी के कारण भी यीस्‍ट संक्रमण बढ़ जाता है।
3. यीस्ट संक्रमण के लक्षण क्या हैं ?
योनि या इसके आसपास खुजली, गाढ़ा सफेद डिस्चार्ज, पेशाब करते वक्त या सेक्स के दौरान योनि में जलन और दर्द, योनि  के आस पास की त्वचा का लाल होना, बदबूदार डिस्चार्ज आदि इसके लक्षण है। लेकिन जब यह बहुत अधिक बढ़ जाता है तो इन जगहों पर खुजली और तकलीफदेह लक्षण नजर आने लगते हैं। यीस्ट इन्फेक्शन के बहुत अधिक बढ़ जाने पर इन जगहों पर खुजली और तकलीफदेह लक्षण नजर आने लगते हैं। लेकिन अपनी कुछ आदतों को बदलकर आप इस समस्‍या से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं।
4. यीस्‍ट संक्रमण से बचाव
संक्रमण होने पर बिना किसी शर्म या संकोच के फौरन स्त्री रोग विशेषज्ञा से मिलकर इस को को सुनिश्चित करें कि योनि में खुजली या जलन की असली वजह क्या है। क्‍या यह वाक्‍य में यीस्‍ट संक्रमण है।
5. कंडोम का इस्‍तेमाल
यीस्‍ट संक्रमण सेक्‍स संबंध से भी फैल सकता है, इसलिए अगर आप या आपका साथी दोनों में से कोई भी इससे पीड़ित हो तो सेक्‍स के समय बिना हार्मोन वाले गर्भनिरोधक उपायों, जैसे कंडोम, आईयूडी डायाफ्राम विधियों का प्रयोग करें और ओरल सेक्‍स से परहेज करें। इसके अलावा अपने साथी को सेक्‍स से पहले अपने प्राइवेट पार्ट को और हाथों को अ‍च्‍छी तरह धोने के लिए कहें।
6. साफ-सफाई का ध्‍यान रखें
योनि के अंदरूनी और बाहरी हिस्सों को अच्छी तरह धोएं, जहां यीस्ट के पनपने की संभावना सबसे अधिक होती है। शॉवर या स्नान करने के बाद अपनी योनि के आस-पास की जगह को अच्छी तरह सुखाएं। टायलेट के प्रयोग के बाद योनि से गुदा तक अच्छी तरह सुखाएं। ऐसी जगह पर कठोर साबुन, परफ्यूम या टाल्कम पावडर का प्रयोग न करें।


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Monday, 4 December 2017

इशारों को समझना जरुरी

इशारों को समझना जरुरी


ये यूनिवर्सली अक्सेप्टेड सच है कि महिलाओं को समझना मुश्किल है। महिलाएं जो वैसे तो हमेशा बातें करती रहती हैं, लेकिन जब अपनी भावनाएं और इनर फ़ीलिंग व्यक्त करने की बात होती है तो शब्दों से की जगह नॉन वर्बल कम्यूनिकेशन यानी इशारों का इस्तेमाल करती हैं। ऐसे में मर्दों के लिए इस मिस्ट्री को समझना कई बार मुश्किल हो जाता है। ऐसे में महिलाओं की बॉडी लैंग्वेज के कुछ साइन को जानना जरुरी है जो ये बताते हैं कि इस वक्त वो मूड में हैं और सेक्स के लिए तैयार हैं। 

1. बांहों के इशारे- अगर अपने पार्टनर को आगोश में लेने की बजाए महिलाएं अपनी बांहों को अपने शरीर के बिल्कुल करीब रख लेती हैं, तो मर्दों को समझना चाहिए कि उनकी पार्टनर के मन में कुछ चल रहा है। इसके अलावा अगर महिलाओं का हाथ उनके सिर पर, आपके सिर पर या आपके चेस्ट पर है तो ये भी इस बात का संकेत है कि वो आपके साथ कंफ़र्टेबल महसूस कर रही है और खुद को रोकना नहीं चाहती। 

2. तेज़ी से सांस लेना- इस इशारे का बनावटी होना मुश्किल है। क्योंकि जब शरीर उत्तेजित होता है तो सांसे अपने आप तेज़ होने लगती हैं। जब शरीर ऑर्गेज़म के लिए तैयार हो रहा है तो दिल की धड़कन तेज हो जाती है और शरीर में ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ने से सांसे तेज़ हो जाती हैं। ये भी इस बात का संकेत है कि वो आपके प्यार के लिए तैयार है। 

3. पार्टनर के करीब आना- जब आपकी पार्टनर आपको प्यार से अपने आगोश में लेने की कोशिश करे और नजदीकियां बढ़ाए तो ये भी इस बात का संकेत है कि वो आपको इन्वाइट कर रही है। इसके अलावा अपने पंजों को मोड़ना भी एक अच्छा संकेत है। 

4. तालमेल बिठाना- अच्छे सेक्स का एक सीक्रिट ये भी है कि ये बेहद समकालिक यानी सिंक्रनाइज़्ड होता है। इसलिए अगर आपकी पार्टनर आपके मूव्स को मैच कर रही हैं और आपके साथ तालमेल बिठा रही हैं तो आगे बढ़ने के लिए इससे बेहतर और कोई समय नहीं हो सकता। 

हालांकि ये जरुरी नहीं कि ये सभी बातें सभी महिलाओं पर लागू हो। हर इंसान एक दूसरे से अलग होता है। जरुरत सिर्फ इस बात की है कि अपने पार्टनर पर ध्यान दें और उनकी बॉडी लैंग्वेज को समझें।


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Wednesday, 29 November 2017

जानें कैसे टमाटर (Tomato) के सेवन से दूर होगी नपुंसकता

जानें कैसे टमाटर (Tomato) के सेवन से दूर होगी नपुंसकता


क्या आप जानते हैं कि पुरुषों को टमाटर जरूर खाने का एक बड़ा फायदा और होता है । वो पुरुष जो नपुंसकता की समस्या से जूझ रहे हैं , टमाटर और टोमैटो केचअप उनके लिये किसी वरदान की तरह हो सकता है। चलिये जानें कैसे -
टमाटर से दूर करें नपुंसकता
टमाटर में प्रोटीन, विटामिन, वसा आदि आवश्यक तत्व मौजूद होते हैं । यह सेवफल व संतरे दोनों के गुणों से भरा है। साथ ही टमाटर खाने से कई और स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं । पौष्टिक तत्वों से भरपूर टमाटर लगभग हर मौसम में ही खाना फयादेमंद होता है । फिर चाहें आप इसे सब्जी में डालकर खाएं या सलाद के रूप में, हर तरह से इसका सेवन फायदेमंद साबित होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पुरुषों को टमाटर जरूर खाने का एक बड़ा फायदा और होता है । वो पुरुष जो नपुंसकता की स मस्या से जूझ रहे हैं , टमाटर और टोमैटो केचअप उनके लिये किसी वरदान की तरह हो सकता है। 
इंफर्टिलिटी की समस्या करें दूर
एक्‍सपर्ट बतातें हैं कि रोज़ाना एक कप टमाटर जूस पीने से पुरुषों की प्रजनन क्षमता में इज़ाफा होता है । साथ ही मेल इंफर्टिलिटी की समस्या को भी इसके सेवन से खत्म करने में मदद मिलती है। दरअसल टमाटर के जूस से वीर्य की गुणवत्ता बढ़ाते वाले लाभकारी तत्व मौजूद होते हैं । साथ ही टमाटर में ऐसे गुण भी होते हैं, जो मर्दानगी को बढ़ाने में सहायक सिद्ध होते हैं । साथ ही इसके सेवन से कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं । गौरतलब है कि एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार टमाटर में लाइकोपीन मौजूद होता है, जोकि स्‍पर्म काउंट को 70 प्रतिशत तक बढ़ा सकता है ।
एंटीऑक्सीडेंट गुण के फायदे
एक अध्‍ययन के मुताबिक एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण टमाटर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है । इससे इंफर्टिलिटी की समस्या को दूर करने में मदद मिल पाती है। साथ ही इसमें शक्तिशाली पोषक तत्‍व भी होते हैं जो स्‍पर्म काउंट और स्पर्म मोर्टिलिटी दोनों को बेहतर बनाते हैं । कई शोध इस मत का समर्थन करते हैं, हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि अभी इस विषय पर और शोध किये जाने की जरूरत है । 
टोमेटो खाने से लाभ
सही तरीके से बने ऑर्गेनिक टोमैटो केचअप का सेवन करने से पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ती है । टमाटर लाल रंग का होता है और इसमें लाइकोपीन नामक शक्तिशाली और लाभदायक तत्व होता है, जो पुरुषों में स्‍पर्म मोटेलिटी की संख्‍या को बढ़ाता है । एसियन जर्नल ऑफ एंड्रोलॉजी में छपे एक शोध में यह बात सामने आयी ।


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Monday, 20 November 2017

लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप में इंट्रेस्टिंग कैसे लाये

लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप में  इंट्रेस्टिंग कैसे लाये 


अगर आपके रिलेशनशिप को काफी समय हो गया है और सेक्स में कुछ भी इंट्रेस्टिंग नहीं रहा है तो इन तरीकों को आजमाएं। ये तरीके आपके लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप में सेक्स को इंट्रेस्टिंग बना देंगे।

लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप
रिलेशनशिप जब लॉन्ग-टर्म में तब्दील हो जाता है तो वो बिल्कुल शादी वाली फीलिंग देता है। कुछ भी नया नहीं होता। वही मिलना, वही आदतें और वैसे ही सेक्स... इस कारण ही लोगों को लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप के ज्यादा टिकने की उम्मीद नहीं होती। अगर आपके रिलेशनशिप को भी काफी समय हो गया है और आपको उसे खत्म नहीं करना है तो इन तरीकों को अपनाएं। ये तरीके सेक्स को इंट्रेस्टिंग बनाएंगे जिससे रिलेशनशिप में नई एक्साइटमेंट आएगी।

सेक्स में वेरायटी लाएं
अगर आप हर हफ्ते सेक्स करते हैं तो आपको सेक्स में वेरायटी ऐड करने की जरूरत है। जब भी सेक्स करें तो अलग-अलग पोज़िशन में सेक्स करें। इससे सेक्स लाइफ अलग बन जाएगी और आपको बहुत कुछ भी सेक्स में नया सीखने को मिल जाएगा। इससे आपको सेक्स लाइफ में ज़्यादा संतुष्टि प्राप्त होगी। सेक्स लाइफ में वेरायटी लाने के लिए इंटरनेट में कामसूत्र सर्च करें और उसमें से हर दिन नए-नए पोज़िशन ट्राय करें।

पोर्न और अंडरगार्मेंट्स का इस्तेमाल करें
नए पोज़िशन के अलावा रिलेशनशिप में एक्साइटमेंट लाने के लिए पोर्न और अंडरगार्मेंट्स को शामिल करें। अलग-अलग तरीके के सेक्स टॉयज़ और खूबसूरत व सेक्सी अंडरगार्मेंट्स खरीदें। फिर डेयर गेम खेलते हुए साथ में पॉर्न फिल्म देखें लेकिन अत्यधिक पोर्न फिल्म ना देखे । इससे आपके पास कुछ करने के लिए होगा और आप एक-दूसरे के बारे में जान भी पाएंगे कि कौन कितना डेयरिंग है।

फैंटसिस शेयर करें
अब रिलेशनशिप को इतने साल हो गए हैं को कुछ ना शेयर करना शुरू किया जाए। हर इंसान की अपनी फैंटेसी होती है। आपलोग की भी होगी। इसे एक-दूसरे के साथ शेयर करें। इससे आपके बीच की झिझक भी दूर होगी और एक-दूसरे को पता भी चल जाएगा की किसे कौन से सेक्स पोज़िशन या मूव्स ज्यादा पसंद हैं।

सेक्स करे बिना पार्टनर को ऑर्गज़्म कराएं
ये थोड़ा मुश्किल है लेकिन नामुमकिन नहीं। इसमें पहले आपको पार्टनर का मूड बनाना पड़ेगा। इसके लिए सबसे पहले अपनी उंगुलियों से पार्टनर के शरीर के नाजुक हिस्सों को छुएं। सेक्सी और डर्टी टॉक करें। फिर बिस्तर में जानें के बजाय काम में लग जाएं। उन्हें तड़पाएं। और एकाएक उनके नाजुक अंगो को हाथों से पकड़कर प्रेस करें। फिर एक-दूसरे को ओरल सेक्स दें। बस आपका पार्टनर ऑर्गैज़्म तक पहुच जायेगा 

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Friday, 10 November 2017

चरम सुख और ध्यान योग

चरम सुख और ध्यान योग 

1. ऑर्गाज्‍म मेडिटेशन (orgasmic meditation) क्या है
ऑर्गाज्‍म मेडिटेशन रतिक्रिया नहीं है लेकिन इसमें रतिक्रिया यानी यौन सम्बन्ध को  चरम तक पहुंचने वाले सुख का अनुभव होता है। वर्तमान में पूरी दुनिया में इसकी चर्चा हो रही है, क्‍योंकि यह महिलाओं के लिए है। ऑर्गाज्‍म मेडिटेशन में महिला के भग-शिश्न (clitoris) को 15 मिनट तक रगड़ता है उसपर आराम से प्रहार करता है। स्ट्रोकिंग कथित तौर पर लिम्बिक सिस्टम (अंग तंत्र) को सक्रिय करता है और ऑक्सीटोसिन को बढ़ा देता है। इस क्रिया के दौरान अपने पार्टनर के बहुत करीब होने का अनुभव होता है और यह चरम सुख प्रदान करता है । इस क्रिया में जरूरी नहीं कि आपके साथ पार्टनर हो, यानी इसमें बिना पार्टनर के भी आपको चरम सुख मिलता है । इस तकनीक की शुरूआत निकोल जाएडोन ने की । 
2. कैसे करते हैं
इस क्रिया में जो स्‍ट्रोक करने वाला होता है वह सीधे क्लिटोरिस पर प्रहार नहीं करता, बल्कि प्‍यार से और धीरे से पैरों की मसाज करता है। फिर आराम से स्‍ट्रोकर्स भग-शिश्‍न पर प्रहार करता है और यह क्रिया 15 मिनट तक निरंतर चलती रहती है। इन 15 मिनट के दौरान महिला को चरम सुख की प्राप्ति होती है। 
3. इससे मिलती है एक नई आज़ादी
इस पद्धति के समर्थकों के अनुसार जब लोग ऑर्गाज्‍म मेडिटेशन करने के लिए आते हैं तो उनके दिमाग में कई सारी बाते होती हैं, झिझक होती है । लेकिन इसे करने के बाद इसके बहुआयामी प्रभाव से उन्हें एक कमाल की स्वतंत्रता का अनुभव होता है। फिर सेंटर में दोस्त प्रेमी हो जाता है और प्रेमी दोस्त सीमाओं की पाबंदी से मुक्ति मिल जाती है।
4. महिलाओं के लिए ऑर्गाज्‍म का महत्व
मास्टर्स ऐंड जॉनसन ने पहली बार वैज्ञानिक अध्ययन के माध्यम से निष्कर्ष निकाला था कि 75 प्रतिशत पुरुष कामक्रीड़ा में शीघ्रपतन के शिकार हो जाते  हैं या फिर वो  मिलन के दौरान ऑर्गाज्‍म के पहले ही स्खलित हो जाते हैं । वहीं 90 प्रतिशत स्त्रियां तो यह भी नहीं जानती कि ऑर्गाज्म, शिखर, काम-समाधि दरअसल होती क्या है। जिसके चलते वे इस चरम तक हीं पहुंच पाती हैं। आधुनिक मनोविज्ञान और हमारा तंत्र विज्ञान दोनों इस तथ्य से सहमत हैं कि जब तक स्त्री काम क्रीड़ा में गहन तृप्ति को नहीं होती, वह परिवार के लिए समस्या बनी रहती है।
5. इसके होते हैं कुछ नियम
इसके अलावा स्ट्रोकिंग करने जा रहे पुरुष को महिला को ये बताना होता है कि वो क्या करने जा रहा है । इसे सेफरिपोर्टिंग (safeporting) कहा जाता है । महिला स्ट्रोकिंग के दौरान शरीर के निचले भाग के कपड़े निकाल देती है, लेकिन पुरुष पूरे कपड़ों में ही होता है ।  


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Sunday, 5 November 2017

सम्भोग या सेक्स कैसे आपके अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ा है और क्या है इसके स्वास्थ्य लाभ

सम्भोग या सेक्स कैसे आपके अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ा है और क्या है इसके स्वास्थ्य लाभ


क्या अपने रंगत में सुधार चाहते है , या अपने मनोदशा को boost करना चाहते है या कैंसर होने की संभावना हो कम करना या हृदय को स्वस्थ रखना चाहते या अन्य बीमारियों से अपना बचाव करना चाहते है तो इसके लिए कोई जादू की गोली नहीं है बल्कि इसका जवाब आपके बिस्तर और चादर के बीच में है | छोटा और प्यारा सम्भोग आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य को आश्चर्यजनक तरीको से सुधारता है

1.) प्रतिरक्षा शक्ति में सुधार (Improved Immunity)
शोध में पाया गया है कि जो लोग सप्ताह में एक या दो बार सम्भोग क्रिया करते है , उनके शरीर में एंटीबाडी , इम्मुनोग्लोबुलिन A ( lgA ) की मात्रा, 30% अधिक होती है उन लोगो की तुलना में , जो कम सेक्स करते है और lgA हमारे शरीर का प्रथम रक्षक है और यह हमारे शरीर में प्रवेश करने के टाइम पर समय ही , हमारे शरीर पर हमला करने वाले सूक्ष्म जीवो ( वायरस, बैक्टीरिया ) से लड़ता है|

2.) स्वस्थ दिल ( Heart health )
पुरुष जो संभोग नियमित रूप से करते है , उनमे 45 % कम संभावना होती है दिल की बिमारी होने के , वनिस्पत उन लोगो के जो महीने में एक बार या उससे भी कम सम्भोग करते है | सेक्सुअल क्रिया केवल हमारे हृदय को वही फायदा देता है जो फायदा व्यायाम करने से होता है और साथ ही साथ एस्ट्रोजन ( महिलाओ में ) और टेस्टोस्टेरोन ( पुरुषो में ) के स्तर को संतुलित रखता है जो हृदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है |

3.) स्वस्थ शुक्राणु का निर्माण

विभिन्न शोधो में यह पाया गया है जो पुरुष नियमित सेक्स या सम्भोग करते है , स्खलन के समय ज्यादा सीमेन , ज्यादा शुक्राणु और ज्यादा स्वस्थ शुक्राणु को स्खलित करते है, उन पुरुषो की तुलना में जो नियमित सेक्स नहीं करते है| यह महिलाओ के लिए अच्छी खबर है कि ऐसा सीमेन अवसाद ( depression ) से लड़ने में , हमारी ऊर्जा को बदने में और अच्छे से प्रसव में मदद करता है अगर आप गर्भवती है

4.) तनाव में कमी
 शोध में पता चला है कि जो लोग 2 सप्ताह में एक बार भी सेक्स करते है, वो लोग तनाव पूर्ण स्तिथियों को ज्यादा अच्छे ढंग से मैनेज करते है

5.) सर दर्द और ऐठन में राहत
अगर आपको सर दर्द या मासिक धर्म के कारण ऐठन हो रही है, उस समय किस करना बहुत लाभकारी है | चुम्बन के कारण एन्दोर्फिंस नाम का रासायनिक तत्व रिलीज़ होता है जो मॉर्फिन जैसी मादक दवाई से भी अधिक पावरफुल होती है|

6.) अच्छी नींद
सेक्स करने के बाद, आराम को बढावा देने वाला हॉर्मोन प्रोलाक्टिन मुक्त होता है जो आपको अच्छी नींद में ले जाने में सहायता करता है| लव हॉर्मोन ऑक्सीटोसिन मुक्त होता अगर आपको ओर्गास्म की प्राप्ति होती है और यह भी अच्छी नींद में मदद करता है

7.) शारीरिक फिटनेस
सेक्स एक कार्डियो एक्सरसाइज है और सेक्स के दौरान आप 85 से 120 कैलोरी तक बर्न कर सकते है | असल में हृदय रोग विशेषज्ञों सेक्सुअल एक्टिविटी को ट्रेडमिल पर किये जाने वाले वर्कआउट के सामन मानते है और सेक्स के दौरान आपके एब्स और पीठ, जांघे और बट की मांसपेशियों को अच्छा वर्कआउट मिलता है | शोध से यह भी पता चला है कि सम्भोग के दौरान पुरुष 4 कैलोरी और महिला 3 कैलोरी प्रति मिनट burn करती है|

8.) प्रोस्टेट कैंसर (Prostate Cancer) से बचाव
रिसर्च में यह पाया गया है कि जो पुरुष महीने में कम से कम 21 बार स्खलित होते है उनमे प्रोस्टेट कैंसर की संभावना कम होती है


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Wednesday, 1 November 2017

कीगल एक्सरसाइज और उसके फायदे

कीगल एक्सरसाइज और उसके फायदे

कीगल एक्‍सरसाइज पेल्विक एरिया में रक्त के प्रवाह में वृद्धि करके पेल्विक की मांसपेशियों को मजबूत रखता है। जिससे इसकी संवेदनशीलता में तेजी आती है। और यह अनुभूती उत्तेजना और आर्गेंज्‍म में मदद करती हैं।


कीगल एक्‍सरसाइज की खोज
डॉक्‍टर अर्नाल्ड कीगल ने इस एक्‍सरसाइज की खोज की है। यह एक्‍सरसाइज गर्भवती महिलाओं की मूत्र असंयम को नियंत्रित करने और बच्चे के जन्म के बाद जल्‍दी ठीक होने में मदद करती है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में यह बात साबित हुई है कि कीगल एक्‍सरसाइज पुरुषों की समय पूर्व स्‍खलन की समस्‍या को कम करने और महिलाओं की श्रोणि की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी मदद करती है।

कैसे करें कीगल एक्‍सरसाइज
पीसी मसल्‍स, पैरों के बीच पेल्विक के पास स्थित होती हैं। इसे करने के लिए अपने घुटनों को मोड़ कर आराम की स्थिति में बैठ जाए। अब आप ध्‍यान केंद्रित करके पीसी मसल्‍स को टाइट करके संकुचित करें। इसे 30 से 50 बार दोहराये। पूरी प्रकिया के दौरान स्‍वतंत्र रूप से सांस लें।  इस एक्‍सरसाइज को करने के दौरान 5 सेकंड के लिए संकुचन करें और फिर 5 सेकंड के लिए आराम करें। धीरे-धीरे इस समय को बढ़ा कर 10 सेकंड कर दें।
ज्‍यादा न करें कीगल एक्‍सरसाइज
कीगल एक्‍सरसाइज को खाली जगह पर ही करें जैसे बेडरूम या बाथरूम। एक्‍सरसाइज के दौरान पेल्विक एरिया की मांसपेशियों को स्क्वीज करें और तीन की गिनती करके उसे रोकें। ध्‍यान रखें कि इस एक्‍सरसाइज को ज्‍यादा करने के लिए अपने आपको न धकेले, उतनी ही करें जितना आप आराम से कर सकते हैं।

कीगल एक्‍सरसाइज के दौरान सावधानी
कीगल एक्‍सरसाइज को भरे हुए ब्‍लैडर या मूत्राशय के दौरान न करें, क्‍योंकि ऐसा करना आपकी मांसपेशियों को कमजोर कर सकता है और ब्‍लैडर को अधूरा खाली कर देता है। जिससे आपको यूरीन मार्ग में संक्रमण हो सकता है।

सेक्स लाइफ बेहतर
कीगल एक्‍सरसाइज करने से आपके यौन अंगों में रक्त के प्रवाह में सुधार होता है। जिससे पेल्विक एरिया की मसल्स मजबूत होती है और आपकी सेक्‍स जीवन में सुधार होता है। आप अधिक सुखद और आर्गेज्‍म की प्राप्ति आसानी से कर सकते हैं। 

पूर्व स्‍खलन की समस्‍या
कीगल एक्‍सरसाइज से पुरुषों के हिप्स की मांसपेशियां मजबूत होती है। जिससे पुरुष जल्दी डिस्चार्ज होने की समस्या बच  सकते हैं। और आप देर तक सेक्स को एंज्वॉय कर सकते हैं।



अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार  शरीर की प्रणाली असंतुलित होने पर यीस्‍ट की समस्‍या होती है। इसमें योनि में जलन, खुजली, गाढ़ा स...