Saturday, 28 February 2015

http://www.drbkkashyapsexologist.com/

WELCOME TO OUR WEBSITE



India played a significant role in the history of sex .it may be argued that india pioneered the use of sexual education through in commen people and powerful rulers,with people in power often indulging in hedonistic lifestyles that were not representative of common morale attitudes. The first evidence of attitudes towards sex comes from the ancient texts of Hinduism,Buddhism and Jainism.the most ancient texts, the Vedas, reveal moral perspectives on sexuality,marriage an fertility prayers.sex magic featured in numbers of vedic sex rituals, most significantly in asvameda yajna. where the chief queen lying with the dead horse in a stimulated sexual act,clearly a fertility rite intended to safe guard and increase the kingdom productivity and marital prowess. These text support the view that in ancient india , sex was considered a mutual duty between a married couple, where husband and wife pleasured each other equally, but where sex was considered a private affair,at least by followers of the aforementioned Indian regions.it seems tha polygamy(sex with multiple parteners) was allowed during ancient times.in practice, this seems to have only been practised by rulers,with common people maintaining a monogamous marriage(sex with single partener). India as a whole has a diverse set of sexual behaviours as any other society, such as lesbian,guys,bisexuals,transgenders and others.


हार्ड हिटिंग के बावजूद सेक्स में महिलाएं नहीं होती संतुष्ट (sex)
यूनिवर्सिटी ऑफ कैनसास के एक रिसर्च में यह बात पता चली है कि 70 प्रतिशत महिलाएं अपने साथी के साथ सेक्स करने के दौरान संतुष्टि का नाटक करती हैं।
शोध में यह पाया गया कि साथी की भावना आहत न हो, इसलिए वे ऐसा करती हैं। रिचर्स में यह भी पाया गया कि एक तिहाई पुरुष भी महिला साथी के साथ सेक्स से संतुष्टि का नाटक करते हैं।
डेली मेल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार जब एक साथी सेक्स के दौरान चरम पर पहुंच जाता है और उसी समय दूसरा साथी चरम बिंदु तक नहीं पहुंचता तो वह अपने साथी के खातिर संतुष्ट होने का नाटक करता है।
इसकी प्रमुख वजह यह है कि वह अपने पार्टनर को बिना हर्ट किए उससे यह बात छुपाता/छुपाती है कि सेक्स के दौरान वास्तव में उसने चरम बिंदु का आनंद नहीं लिया।
इस शोध के लिए कॉलेज में पढ़ रहे 281 लड़के और लड़कियों से सेक्स हैबिट के बारे में पूछा गया। इस दौरान यह पाया गया कि लड़के और लड़कियों पर 'रियल सेक्स' का आनंल लेने और वहीं आनंद अपने साथी को देने का दबाव होता है, जिसके कारण वह अपने सेक्स संतुष्टि की बात स्वीकारते हुए इसलिए झूठ बोलते हैं कि कहीं उसके पार्टनर को बुरा न लगे।
सेक्स एक्सपर्ट ट्रैसी कॉक्स के अनुसार, 'कई महिलाओं को यह लगता है कि उन्हें सेक्स के दौरान संतुष्‍ट होने का सबूत देना पड़ सकता है, क्योंकि कई बार वे 'हार्ड हिटिंग' के बावजूद सेक्स से संतुष्ट नहीं होतीं।
65 peo2ple reached

http://www.drbkkashyapsexologist.com/

http://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-%3Cnear%3E-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_QWxsYWhhYmFkIFNleG9sb2dpc3QgRG9jdG9ycyBhbGxhaGFiYWQ=_BZDET

https://www.facebook.com/DrBkKasyap

10 टिप्स फॉर सेक्स (Power Increase)
///////////////////////////////////////
नशे ही आदत या भोजन की अनियमिता के चलते बहुत से लोगों को इस बात की शिकायत रहती है कि मेरा वक्त के पहले ही स्खलित हो जाता है उनके लिए हम लाएं हैं 10 ऐसे उपाय जिसे आजमा कर उनकी यह शिकायत दूर हो जाएगी।
1. संभोग करने के तीन घंटे पूर्व अन्न और जल त्याग दें।
2. हर दम पेट साफ रखें।
3. किशमिश और अखरोट खाएं।
4. प्रतिदिन प्रात: थोड़ी सी कसरत करें।
5. प्रतिदिन प्रात: 10 मिनट का ध्यान करें।
6. संभोग की प्रक्रिया शुरू करने के बाद बीच-बीच में रुकें और फिर शुरू करें।
7. फोरप्ले में ज्यादा वक्त गुजारे। सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी न करें।
8. सेक्स के समय मन में किसी तरह का भय, चिंता, घबराहट नहीं होना चाहिए।
9.सेक्स से पहले कोई भी ऐसी चीज न खाएं जिससे शरीर से दुर्गन्ध या कोई अन्य तेज गंध आती हो, हो सकें तो स्नान या कम से कम ब्रश कर के ही सेक्स की शुरुआत करें।
10. योग की अश्विनी मुद्रा का अभ्यास करें। इससे आप सेक्स का समय बढ़ा सकते हैं। वज्रोली मुद्रा से भी सेक्स समय को बढ़ाया जा सकता है।///

प्रश्न : मेरी हाल ही में शादी हुई है और मेरे पति को सेक्स से ज्यादा हस्तमैथुन में आनंद आता है। उनकी यह आदत बनी रही तो मेरा सेक्स जीवन तबाह भी हो सकता है। उनकी इस आदत से कैसे पीछा छुड़ाऊं?
उत्तर : यूं तो हस्तमैथुन से किसी तरह की हानि नहीं होती, लेकिन यह बात जरूर चिंतनीय है कि आपके पति को आपके साथ सेक्स करने से ज्यादा हस्तमैथुन में आनंद आता है। उनकी इस आदत को छुड़ाने के लिए आपको उन्हें सेक्स के ‍लिए प्रेरित करना चाहिए। संभव है धीरे-धीरे उनकी यह आदत छूट जाए। ‍फिर भी यदि उनकी यह आदत नहीं छूटती है तो बेहतर होगा कि आप किसी योग्य सेक्स थैरपिस्ट की सलाह लें। Dr B K Kashyap

Our organization goal is dedicated towards the cure of all sexual problems and will not leave any stone unturned to bring back the happiness & prosperity in each family.
DRBKKASHYAPSEXOLOGIST.COM|BY DR BK KASHYAP

https://www.facebook.com/DrBkKasyap/posts/818828161566111

http://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-%3Cnear%3E-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_QWxsYWhhYmFkIFNleG9sb2dpc3QgRG9jdG9ycyBhbGxhaGFiYWQ=_BZDET

न - प्रशन्नि चित चेहरा व आत्म विश्वारस में बढोत्तरी
एन्डो्मार्फिन - गाढी नींद व दर्द निवारक औषधि
थाइरोकेनिन - हडि्डयों की मजबूती व आस्टीधयोपोरासिस रोकने में मदद
इन्सुयलिन - रक्त में ग्लूकोज के उपापचय का निगमन करना
टेस्टोस्टेगरान - सेक्स में बढोत्तटरी, लिंग में कडापन व जोशीला व्यक्ति बनाता है ।
एन्टीवाडीज- शरीर की रोंगों से रोग प्रतिरोधक क्षमता व लडने की ताकत बढाना
एण्डोकजन- स्तनों में वृ‍द्धि, चेहरे पर कसाव
सैक्स नैसर्गिक आवश्यकता है इसका दमन कई प्रकार के मानसिक रोगों को जन्म देता है जो कि धीरे-धीरे शारीरिक रोगों में प्रकट होते हैं ।
सैक्स की गलत भ्रांतियॉ व उसके दमन से होने वाले प्रमुख रोग ।
शीघ्रपतन- यह सिर्फ मानसिक रोग है गलत भ्रांतियॉ व उसके दमन की वजह से
पैदा होता है ।
हिस्टीरिया - स्त्रीयों में अपने पति से सैक्स की पूर्ण तृप्ति न होना व सैक्स की
भावनाओं को दबा देने से होता है ।
साइजोफ्रेनिया - सैक्सु्अल एन्जाय का विक्रत रूप 60प्रतिशत रोगों में एन्जायजिम्मे्दार है ।
आस्टियोपोरासिस- 40 प्रतिशत रोगो में सेक्स का दमन व जल्दवाजी जिम्मेदार
आत्म विश्वासमें कमी - 80 प्रतिशत केसों में खुलकर सैक्स न कर पाना, आधी अधूरी इच्छा रह
जाने की वजह से होता है ।
अन्य रोग - सैक्स की अनभिज्ञता व जानकारी का आभाव व गलत जानकारी का
भ्रम पाल लेने की वजह से अन्य कई रोग भी पैदा हो जाते हैं ।
नियम : सैक्स अर्थात सम्भोग करते समय कुछ नियमों को ध्यान में रखा जाये तो सैक्स को स्वासथ्य औषधि बनाया जा सकता है ।
सेक्स की बाते व सैक्स विपरीत लिंग से ही करें । समलैंगिक सैक्स मानसिक व शारीरिक क्षति पहुंचाता है ।
सैक्स का पार्टनर उसे ही मनायें जो की आपके साथ 100 प्रतिशत सैक्स करने को तैयार हो ।
सम्भोग में उतरने से कुछ पहले अपने पार्टनर से इस बाबत बात करे व सहमति ले ऐसा करने पर सैक्स चरमानन्द स्थि्ति तक पहुंचाया जा सकता है ।
सैक्स में उतरने से पहले फोरप्ले अवश्य करे ताकि हार्मोनों का स्त्राव हो सके । स्त्री पुरूष के स्खलन के पश्चात हार्मोन स्त्रावित नहीं हो पाते है ।
स्त्री व पुरूष अपने को सैक्स करते समय बीच में थोडा-थोडा रोकते रहे ताकि सेक्स को लम्बे समय तक चलाया जा सके ।
पुरूष सैक्स करते समय श्वास को सामान्य रख सामान्य श्वास के साथ किया गया सैक्स लम्बे समय तक चलता है ।
स्त्री व पुरूष दोनों को चाहिए कि पूर्ण नग्न‍ होकर फोरप्ले व सम्भोग करें व प्रत्येक अंग प्रत्यंग का मर्दन करें ।
अन्य जानकारी और काउन्सलिंग के लिए ब्यक्तिगत चैटिंग के लिए आमंत्रित है।
पुरूषों में नपुंसकता के लक्षण\
पुरुषों में बांझपन या नपुंसकता के लक्षण ढूंढ़ना बहुत मुश्किल होता है। आमतौर पर नपुंसकता का कारण शरीर में उपलब्ध हार्मोंस में गड़बड़ी या इनकी कमी के कारण होती है।
हार्मोंस में बदलाव के कारण भी पुरुषों में यह समस्या हो सकती है। कई बार जो पुरूष हुष्ट-पुष्ट है किसी दुर्घटनावश वह नंपुसक भी हो सकता है। इसीलिए नपुंसकता के लक्षणों को जानना बेहद मुश्किल होता है। लेकिन फिर भी कुछ सामान्य सी बातों को जानकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पुरूष नंपुसक है या नहीं। आइए जानें पुरूषों में नपुंसकता के लक्षणों को।
ऐसे पुरुष में नपुंसक होने के लक्षण मौजूद होते हैं, जो संभोग के समय में सही तरीके से यौन क्रियाएं नही कर पाता या फिर बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता है।
दरअसल नपुंसकता का संबंध सीधे तौर पर ज्ञानेन्द्रियों से होता है, ऐसे में पुरुष कई बार इस बारे में जागरूक नहीं हो पाते तो कई बार संकोचवश डॉक्टर से इस बारे में परामर्श नहीं ले पातें। जिससे ये रोग बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है। नपुंसक व्यक्ति की महिला साथी कभी पूर्ण रूप से संतुष्ट नहीं हो पाती।
कुछ लोग नपुंसक नहीं भी होते लेकिन घबराहट और मन में डर या किसी मानसिक बीमारी आदि के कारण वे उत्तेजित नहीं हो पाते। भविष्य में यही डर और घबराहट ऐसे पुरुषों को नपुंसक बना देता हैं और घबराहट के कारण यह अपनी पार्टनर से दूर-दूर रहने लगते हैं।
पुरूषों में बांझपन के लक्षण
जो पुरुष संभोग के दौरान सही तरीके से यौन क्रियाएं नहीं कर पाता या फिर बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता है तो उसमें कमी होती है। यह नपुसंकता का लक्षण भी है।
नपुंसकता होने पर पुरुष के लिंग में कठोरता या तो आती नहीं, आती है तो बहुत जल्दी शांत हो जाती है। संभोग के दौरान अचानक लिंग में कठोरता का कम होना।
दरअसल नपुंसकता का संबंध सीधेतौर पर ज्ञानेन्द्रियों(सेंसेज) से होता है। कुछ लोग तो संकोचवश या जागरुकता के अभाव में इस बारे में सही जानकारी नही ले पाते हैं।
हालांकि नंपुसकता अधिक उम्र के व्यक्तियों में ज्यादा पाई जाती है। जिससे पुरुष महिलाओं के पास जाने से भी घबराने लगते हैं। उम्र बढ़ने के साथ ही यौन इच्छा में कमी होने लगती है।
जो पुरुष सेक्स क्रिया करने में रूचि नहीं रखते और जिनमें उत्तेजना नहीं होती वे पूर्ण नपुंसक होते हैं। जबकि जो पुरुष एक बार तो उत्तेजित होते हैं लेकिन घबराहट या किसी अन्य कारण से अक्‍सर जल्दी शांत हो जाते हैं उन्हें आंशिक नपुंसक कहा जाता है।
संभोग करने के दौरान या करने से पहले घबराहट होना। क्योंकि ऐसे लोगों में विश्वास की कमी होती है और उनके अंदर डर सा बना रहता है।
संभोग के दौरान जल्दी डिस्चार्ज हो जाना।
संभोग के दौरान अचानक लिंग में कठोरता का कम होना।
नपुंसकता के कारण पुरुष का लिंग सामान्य से छोटा हो जाता है जिससे पुरुष ठीक तरह से संभोग करने में असमर्थ होता है।
नपुंसक लोगों में आत्मभविश्वास की कमी होना। अक्सर ऐसे लोग भीड़ से घबराते हैं और महिलाओं से बात करने में दिक्कत होती है।
नपुंसक व्यक्ति के अंडकोष छोटे हो जाते हैं।
नपुंसकता के कारण व्यक्ति थकान महसूस करता है।
आत्मभविश्वास की कमी होना।
लोगों से बातचीत के दौरान घबराना।
भीड़ में घबराना या महिलाओं से बात करने में झिझकना।
नपुंसक व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिससे सही तरह से संभोग ना करने के कारण पीडि़त व्यक्ति बीमार रहने लगता है।
बांझपन के कारण व्यक्ति के प्रजनन अंग कमजो़र हो जाते हैं।
भागदौड़ भरी जिंदगी ने लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से कमजोर बना दिया है
https://www.facebook.com/DrBkKasyap/insights/?section=navPosts

प्रश्न: मेरी उम्र 23 साल है। मेरे लिंग का साइज तीन इंच है। लिंग में टेढ़ापन और पतलापन भी है। क्या मुझे सेक्स संबंध स्थापित करने में किसी तरह की परेशानी हो सकती है। कृपया उचित सलाह दें।
उत्तर : सामान्यत: लिंग के आकार में कमी हार्मोन्स के असंतुलन के कारण होती है। अधिकतर लोगों में लिंग के साइज को लेकर भ्रम भी होता और वे सोचते हैं कि उनके लिंग का आकार सामान्य नहीं है। चिकित्सा विज्ञान के मुताबिक लिंग का साइज दो इंच (उत्तेजना की स्थिति में) से कम नहीं होना चाहिए।
जहां तक ‍लिंग में टेढ़ेपन का सवाल है तो वह हर पुरुष में कुदरती तौर पर होता है, लेकिन बहुत अधिक टेढ़ापन पेरोनीस डिसीस अथवा कॉर्डी की वजह से होता है। इसके लिए चिकित्सक की सलाह लेना चाहिए। http://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-<near>-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_QWxsYWhhYmFkIFNleG9sb2
http://www.drbkkashyapsexologist.com/

Kashyap Clinic in Allahabad. Find Kashyap Clinic Phone Numbers, Addresses, Best Deals, Latest Reviews & Ratings. Visit Justdial for Kashyap Clinic Allahabad and more
JUSTDIAL.COM

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार  शरीर की प्रणाली असंतुलित होने पर यीस्‍ट की समस्‍या होती है। इसमें योनि में जलन, खुजली, गाढ़ा स...