Wednesday, 16 November 2016

रोजाना किस करने से बने रहेंगे जवा

रोजाना किस करने से बने रहेंगे जवा



 किस सिर्फ फन के लिए ही नहीं किया जाता बल्कि फिट रहने के लिए भी किस करना बहुत जरूरी है  तो आइए आपको हम बताते है कि किस करने और स्मूच करने के बहुत से हेल्‍थ बेनिफिट हैं। आइए जानें, रोजाना किस करके आप कैसे हेल्दी रह सकते हैं।

एक रिसर्च में ये बात भी सामने आई है कि जो पार्टनर अपने पार्टनर को रोजाना सुबह पांच मिनट गुडबाय किस करते हैं वे नॉर्मल व्यक्ति से 5 साल ज्यादा जीते हैं। कुछ-कुछ समय के अंतराल के बाद किस करने से आप हाई कॉलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर से बच जाते हैं। किस करने से एंजाइटी, घबराहट और उतावलेपन से छुटकारा मिलता है और आपके मन को शांति मिलती है।

अगर आप रोजाना अपने पार्टनर को सीरियस फ्रेंच किस करते हैं तो आपके मुंह के बैक्टीरिया दूर होंगे। इतना ही नहीं, इससे आप दांतों की बीमारी, कैवेटिज वगैरह से आसानी से बच सकते हैं। क्या आप जानते हैं स्मूच करने से तनाव को दूर करने में बहुत मदद मिलती है। ये एक तरह का मेडीटेशन है। ये नेगेटिव फीलिंग्‍स को रिप्लेस करता है और आपको खुश करने में मदद करता है ।

किसिंग से आप एलर्जी को गुडबॉय कह सकते हैं। एक जैपनीज स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ था कि 30 मिनट तक लगातार किस करने से शरीर में सीजनल एलर्जी बढ़ाने वाले बैक्‍टीरिया कम हो जाते हैं | किसिंग से मेटाबॉलिज्म स्ट्रांग होता है ।
पैशनेट किस के दौरान आपकी बहुत सारी कैलोरी बर्न होती है। क्या आप जानते हैं पैशनेट होकर किस करने से आप एक मिनट में 2 से 5 कैलोरी बर्न करते हैं। ये आपके नॉर्मल रूटीन में होने वाली बर्न कैलोरी से डबल है और इससे आपको खूब आनंद भी मिलेगा ।

लिपलॉक करने से आपके फेस की मसल्स का वर्कआउट होता है। जो कि जल्दी झुर्रियां आने नहीं देता और आप लंबे समय तक यंग रहते हैं। किसिंग से आपका इम्युन सिस्‍टम बढ़ जाता है। दरअसल, किस करना आपको बीमारी से बचाता है। ये एक तरीके से टीका का काम करता है। यानी किस आपको हेल्दी बनाता है ।

जी हां, रोजाना किस करने से आप ब्लैडर, स्टमक और ब्लड इंफेक्‍शन से बच सकते हैं। आप रोजाना किस से पेट संबंधी बीमारियों से बचे रहते हैं। आपका वजन भी कम हो जाता है। अब आप अपने पार्टनर को आराम से किस कर सकते हैं। अगर आपके पार्टनर को किस करना पसंद ना आता हो तो आप इन्हें इन फायदों के बारे में बताएं।


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Website-www.drbkkashyapsexologist.com

Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com

Fb-https://www.facebook.com/DrBkKasyap/

Youtube-https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg

Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Monday, 14 November 2016

जानिए कितना लाभकारी होता है सुबह के वक्त सेक्स करने से ?

जानिए कितना लाभकारी होता है सुबह के वक्त सेक्स करने से ?



मर्द और औरते इस बात को लेकर कनफ्यूज रहते है की सेक्स करने के लिए कौन सा समय अच्छा रहेगा  तो आइए आज हम  इलाहाबाद के सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से जानते हैं  स्त्री और पुरुष के जीवन में सेक्स का अहम् रोल  क्या है । कई डॉक्टर सेक्स से जुडी शारीरिक लाभ को भी बताते रहे है । जी हाँ सेक्स करने के समय को लेकर एक रिपोर्ट आई है जिसमे यह कहा गया है कि सुबह का वक्त सेक्स करने के लिए सबसे बेहतर समय है।

रिसर्च में पता चला है कि सुबह के वक्त स्त्री और पुरुष का  मूड फ्रेश रहता है  जिसके कारण सुबह सेक्स करने के अत्यधिक फायदे है। सुबह के समय अगर सेक्स करते है तो पूरे दिन आप खुश और टेंशन फ्री महसूस करते है। डॉक्टर बी०के० कश्यप  के अनुसार सेक्स के दौरान निकलने वाले कैमिकल के कारण आपका मूड बेहतर और एनर्जेटिक महसूस करते हैं । सुबह सेक्स करने से कई तरह की बीमारियाँ खुद ही दूर हो जाती है।

इसके अलावा सेक्स के दौरान इम्यूनोग्लोबिन ए से आपकी इम्युनिटी 30% तक और बढ़ती है । रेगुलर सेहतमंद सेक्स से वजन भी कम कर सकते है । सेक्स करने बहुत उर्जा बर्न होता है जिससे आपका वजन कम हो जाता है ।

सिडनी की कई रिसर्च में यह सामने आया है की सुबह के समय सेक्स से वीर्य की क्वालिटी 12% से 15% तक बढ़ जाती है ।

इससे परिवार की शुरूआत बेहतर हो सकती है । सुबह सेक्स करने से आपकी त्वचा भी चमकती है । एस्ट्रोजन का स्तर बेहतर होने से ऑक्सिजन का संचार बेहतर होता है ।  त्वचा और बालों की क्वालिटी अच्छी होती है और आप सेहतमंद भी रहते है...

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Website-www.drbkkashyapsexologist.com

Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com

Fb-https://www.facebook.com/DrBkKasyap/

Youtube-https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg

Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Thursday, 10 November 2016

रोजाना सेक्स करने के फायदे जानकर रह जायेंगे आप हैरान

रोजाना सेक्स करने के फायदे जानकर रह जायेंगे आप हैरान 


 रोजाना सेक्स करने को लेकर सब अपनी अलग राय देते आये है  लेकिन आज आप  को हम बताएंगे की सेक्स से कितने होते है फायदे। यौन संबंधों से महिला और पुरुष को न सिर्फ शारीरिक और मानसिक संतुष्टि मिलती है, बल्कि आनंद की अनुभूति भी होती है। इससे परस्पर रिश्तों में मजबूती भी आती है। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी सेक्स करना काफी लाभदायक माना गया है। आइए जानते हैं  सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से कि सेक्स से व्यक्ति को क्या-क्या फायदे होते हैं - 

1-अधिक सेक्स करने से बीमारियों से  दूर होते है  और बढ़ती है लाइफ
ऐसा माना जाता है कि हर बार जब व्यक्ति ऑर्गेज्म हासिल करता है तब-तब वह अपनी जिंदगी के दिनों में भी वृद्धि करता है। ऑर्गेज्म के समय एक विशेष रसायन के स्त्राव से क्षतिग्रस्त कोशिकाएं फिर से बनती हैं।

2-सेक्स से त्वचा बनते है चमकदार
एक अध्ययन के मुताबिक सेक्स त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। एक अध्ययन के मुताबिक सेक्स करने से शरीर में ऐसे रसायन बनते हैं जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। इससे त्वचा चमकदार बनती है।

3-अधिक सेक्स करने से भागता है रोग
सेक्स इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है, जिससे संक्रमणों और बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। सप्ताह में एक या दो बार सेक्स करने से सामान्य सर्दी जुकाम और दूसरे संक्रमणों से लड़ने में मदद मिलती है। नियमित सेक्स से व्यक्ति को अवसाद से भी मुक्ति मिलती है। सेक्स के बाद व्यक्ति को गहरी नींद आती है, जिससे शरीर को पूर्ण आराम मिलता है।

4-  सेक्स करने से अच्छा व्यायाम होता है
सेक्स करने से शरीर का अच्छा व्यायाम हो जाता है । सेक्स के दौरान शरीर की सभी मांसपेशियां खिंचती और खुलती हैं। सेक्स शरीर की अतिरिक्त कैलोरी घटाने में भी मदद करता है। यह व्यायाम करने का सबसे आनंददायक तरीका भी है। एक बार की सेक्स क्रिया से उतनी कैलोरी घट जाती है जितनी कैलोरी पन्द्रह मिनटों तक ट्रेड मिल पर वॉक करने पर खर्च होगी। ऐसा कहा जाता है कि एक बार के सेक्स में उतनी ही कैलोरी खर्च होती है जितनी की एक बड़े पार्क के तीन-चार चक्कर लगाने में होती है।

5- सेक्स करता है कैंसर के खतरों को कम
एक शोध के मुताबिक नियमित सेक्स करने वाले व्यक्तियों को प्रौस्टेट कैंसर का खतरा तुलनात्मक रूप से कम हो जाता है। ऐसा माना जाता है कि सेक्स के दौरान स्पर्म के साथ कैसंरजनित सीमेन भी निकल जाते हैं।

6 -हृदय की बीमारी से छुटकारा
एक अध्ययन में ये बात सामने आयी है कि जो लोग हफ्ते में दो बार से अधिक सेक्स करते हैं उनमें दिल की बीमारी का खतरा काफी कम हो जाता है। दूसरी ओर जो लोग महीने में एक बार भी सेक्स नहीं करते हैं उन्हें दिल के दौरे का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। इससे न सिर्फ रक्तचाप ठीक रहता है बल्कि कोलेस्ट्रोल का लेबल भी सामान्य रहता है।

7- सप्ताह में एक या दो बार सेक्स करने से सिरदर्द से  आराम मिलता है
आमतौर पर देखने में आया है कि पार्टनर सेक्स से बचने के लिए सिरदर्द का बहाना करते हैं, लेकिन हकीकत में सेक्स से सिरदर्द से छुटकारा मिल जाता है। एक अध्ययन के मुताबिक सेक्स के दौरान जब दोनों पार्टनर ऑर्गेज्म के करीब पहुंचते हैं तब शरीर में ऑक्सीटोसिन नामक हॉर्मोन का प्रवाह ज्यादा तेजी से होता है। यह हॉर्मोन सिरदर्द और अन्य दर्द से छुटकारा दिलाता है।

8-Healthy सेक्स करने से आत्मविश्वास बढ़ता है
 ड़ा० बी०के० कश्यप  के अनुसार यदि व्यक्ति की सेक्स लाइफ बेहतर है या फिर वह अच्छी तरह से सेक्स करता है तो उसका पारिवारिक जीवन खुशहाल होता है। इसका असर उसके दैनिक जीवन पर भी पड़ता है। वह प्रोफेशनल लाइफ में भी अच्छा प्रदर्शन करता है। एक स्टडी में तो यह भी खुलासा हुआ है कि जो लोग हफ्ते में चार बार या उससे ज्यादा सेक्स करते हैं, उनकी तरक्की तेजी से होती है।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Website-www.drbkkashyapsexologist.com

Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com

Fb-https://www.facebook.com/DrBkKasyap/

Youtube-https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg

Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Friday, 4 November 2016

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या नहीं खाना चाहिए आइए हम आपको बताते है ?

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या नहीं खाना चाहिए आइए हम आपको बताते है ?


सेक्स इंसान के जीवन की एक बड़ी आवश्कता है.
जैसे इंसान को जीने के लिए रोटी और पानी की जरूरत होती है, उसी तरह से यह एक चीज भी इन्सान की जरूरत ही है.
सेक्स दो आत्माओं के बीच बनने वाला एक पवित्र रिश्ता होता है, जिससे आगे सृष्टि का विकास होता है.
तो अब यह जानना बेहद जरूरी है कि बेहतर सेक्स के लिए क्या भोजन किया जाये और खुद को कैसे स्वस्थ रखा जाये. कई बार हम रात्रि भोजन में गलत चीजों का प्रयोग करते हैं और उसके बाद साथी के साथ सम्बन्ध बना रहे होते है. तो तब इससे स्वस्थ्य को नुकसान पहुँचता है और इससे आने वाली पीढ़ी भी बीमार पैदा होती है.
आज हम आपको बताने वाले हैं कि बेहतर सेक्स के लिए भोजन कैसा होना चाहिए…
क्या नहीं खाना-पीना है
1.   उस रात को आप मैदा से बना कोई भी भोजन उपयोग ना करें. मैदा पेट में जाकर फूलता है और वह जल्द इंसान के शरीर में पचता भी नहीं है. मैदा खाने के बाद सेक्स करने पर पेट में दर्द होने का डर बना रहता है.
2.   पिज्जा-बर्गर जैसे फास्टफूड को खाने से इंसान के हॉर्मोन पर असर पड़ता है. साथ ही साथ अगर आप फ़ास्टफ़ूड को खाते हैं तो इससे मोटापा भी आता है. जरूरी बात यह है कि उस रात में यह खाने से आलस ज्यादा आता है. इसलिए इनका प्रयोग ना ही करें.
3.   सम्भोग से पहले कोल्डड्रिंक और शराब का सेवन करना, जहर के समान है. शराब पीने के बाद इन्सान के शरीर में जो हॉर्मोन बनते हैं वह सेक्स क्रिया को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं. इसलिए शराब पीने के बाद सम्भोग न करें.
4.   ध्यान रखें कि सेक्स से पहले, ज़रूरी ना हो तो किसी भी तरह की दवाओं का उपयोग आप न करें. खासकर सेक्स पावर बढ़ाने के नाम पर तो कुछ भी उपयोग ना करें.
5.   सेक्स करने से पहले आपको ज्यादा मसालेदार खाने का प्रयोग भूलकर भी ना करें. सबसे ज्यादा जरूरी बात यह है कि सुबह का बना या पुराना फ्रिज का भोजन करने से तो जरूर बचें.
तो फिर क्या है खाना -
1.   अब खाने वाली वस्तुओं की बात करें तो अगर आपका जिस दिन साथी के साथ संभोग करने का दिल हो उस दिन आप हल्की तडके वाली दाल और रोटी का सेवन करें. हो सके तो दोपहर के भोजन में चावल और दही का उपयोग करें. किन्तु रात में दही ना खायें.
2.   खाना खाने के कुछ समय बाद गुड़ का प्रयोग करना आपके लिए सर्वोतम हो सकता है. गुड़ के खाने से भोजन जल्दी पचता है. साथ ही साथ इससे सेक्स पॉवर भी बढ़ती है.
3.   अगर आपको उस रात में देशी गाय का दूध पीने को मिल जाये तो यह सर्वोतम हो सकता था. गाय के दूध में घी डालकर पीने से यह सेक्स पॉवर को आश्चर्जनक रूप से बड़ा देता है.
4.   महिलाओं को सेक्स से पहले चॉकलेट जरूर खानी चाइये. किन्तु याद रखें कि आप डार्क चॉकलेट ही खायें. पुरुष भी हल्की मात्रा में इसका प्रयोग कर सकते हैं.
5.   उस रात में आप कम मसालेदार हरी सब्जियों का प्रयोग करें. साथ ही साथ आप भोजन में कच्ची प्याज सलाद के रूप में जरूर खायें. इससे सेक्स पॉवर बढ़ती है.
अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Website-www.drbkkashyapsexologist.com

Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com

Fb-https://www.facebook.com/DrBkKasyap/

Youtube-https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg

Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या नहीं खाना चाहिए आइए हम आपको बताते है ?

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या नहीं खाना चाहिए आइए हम आपको बताते है ?


सेक्स इंसान के जीवन की एक बड़ी आवश्कता है.
जैसे इंसान को जीने के लिए रोटी और पानी की जरूरत होती है, उसी तरह से यह एक चीज भी इन्सान की जरूरत ही है.
सेक्स दो आत्माओं के बीच बनने वाला एक पवित्र रिश्ता होता है, जिससे आगे सृष्टि का विकास होता है.
तो अब यह जानना बेहद जरूरी है कि बेहतर सेक्स के लिए क्या भोजन किया जाये और खुद को कैसे स्वस्थ रखा जाये. कई बार हम रात्रि भोजन में गलत चीजों का प्रयोग करते हैं और उसके बाद साथी के साथ सम्बन्ध बना रहे होते है. तो तब इससे स्वस्थ्य को नुकसान पहुँचता है और इससे आने वाली पीढ़ी भी बीमार पैदा होती है.
आज हम आपको बताने वाले हैं कि बेहतर सेक्स के लिए भोजन कैसा होना चाहिए…
क्या नहीं खाना-पीना है
1.   उस रात को आप मैदा से बना कोई भी भोजन उपयोग ना करें. मैदा पेट में जाकर फूलता है और वह जल्द इंसान के शरीर में पचता भी नहीं है. मैदा खाने के बाद सेक्स करने पर पेट में दर्द होने का डर बना रहता है.
2.   पिज्जा-बर्गर जैसे फास्टफूड को खाने से इंसान के हॉर्मोन पर असर पड़ता है. साथ ही साथ अगर आप फ़ास्टफ़ूड को खाते हैं तो इससे मोटापा भी आता है. जरूरी बात यह है कि उस रात में यह खाने से आलस ज्यादा आता है. इसलिए इनका प्रयोग ना ही करें.
3.   सम्भोग से पहले कोल्डड्रिंक और शराब का सेवन करना, जहर के समान है. शराब पीने के बाद इन्सान के शरीर में जो हॉर्मोन बनते हैं वह सेक्स क्रिया को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं. इसलिए शराब पीने के बाद सम्भोग न करें.
4.   ध्यान रखें कि सेक्स से पहले, ज़रूरी ना हो तो किसी भी तरह की दवाओं का उपयोग आप न करें. खासकर सेक्स पावर बढ़ाने के नाम पर तो कुछ भी उपयोग ना करें.
5.   सेक्स करने से पहले आपको ज्यादा मसालेदार खाने का प्रयोग भूलकर भी ना करें. सबसे ज्यादा जरूरी बात यह है कि सुबह का बना या पुराना फ्रिज का भोजन करने से तो जरूर बचें.
तो फिर क्या है खाना -
1.   अब खाने वाली वस्तुओं की बात करें तो अगर आपका जिस दिन साथी के साथ संभोग करने का दिल हो उस दिन आप हल्की तडके वाली दाल और रोटी का सेवन करें. हो सके तो दोपहर के भोजन में चावल और दही का उपयोग करें. किन्तु रात में दही ना खायें.
2.   खाना खाने के कुछ समय बाद गुड़ का प्रयोग करना आपके लिए सर्वोतम हो सकता है. गुड़ के खाने से भोजन जल्दी पचता है. साथ ही साथ इससे सेक्स पॉवर भी बढ़ती है.
3.   अगर आपको उस रात में देशी गाय का दूध पीने को मिल जाये तो यह सर्वोतम हो सकता था. गाय के दूध में घी डालकर पीने से यह सेक्स पॉवर को आश्चर्जनक रूप से बड़ा देता है.
4.   महिलाओं को सेक्स से पहले चॉकलेट जरूर खानी चाइये. किन्तु याद रखें कि आप डार्क चॉकलेट ही खायें. पुरुष भी हल्की मात्रा में इसका प्रयोग कर सकते हैं.
5.   उस रात में आप कम मसालेदार हरी सब्जियों का प्रयोग करें. साथ ही साथ आप भोजन में कच्ची प्याज सलाद के रूप में जरूर खायें. इससे सेक्स पॉवर बढ़ती है.
अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या है नहीं खाना! पुरुष हो या महिला दोनों के लिए बेहद जरूरी जानकारी

सेक्स से पहले क्या है खाना और क्या है नहीं खाना! पुरुष हो या महिला दोनों के लिए बेहद जरूरी जानकारीwww.google.co.in’s DNS address could not be found.

Wednesday, 26 October 2016

सेक्स के दौरान दर्द क्यों होता है आईये जानते है कश्यप क्लीनिक प्राo लिo के सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से

सेक्स के दौरान दर्द क्यों होता है  आईये जानते है  कश्यप क्लीनिक प्राo लिo के सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से



सेक्स सभी के लिए एक सुखद अनुभव नहीं होता है। पहली बार किया गया सेक्स अकसर पीड़ादायक होता है। यह आम बात है लेकिन अगर एक से अधिक बार सेक्स करने के बाद भी यह दर्द  जारी रहे तो यह चिंता का विषय हो सकता है। कई बार इंटरकोर्स के दौरान महिलाओं और पुरुषों दोनों को दर्द होता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि इंटरकोर्स के दौरान दर्द होता क्यों है?

सेक्स के दौरान दर्द क्यों होता है ?

पहली बार सेक्स के दौरान दर्द होना आम बात है। पहली बार इंटरकोर्स के दौरान महिलाओं की झिल्ली के फ़टने के कारण महिलाओं के निचले हिस्से में दर्द होता है। वहीं पुरुषों के प्राइवेट पार्ट की स्किन के खिंचने के कारण होता है।
साथ ही पहली बार सेक्स के समय तनाव या टेंशन के कारण निचले हिस्से में सूखेपन के कारण भी दर्द भी होता है। इसके अतिरिक्त महिलाओं को वजाइना में सूजन होना, गर्भनिरोधक गोलियां लेने से या किसी बीमारी के कारण भी यह दर्द  हो सकता है। पुरुषों को सेक्स के दौरन अगर प्राइवेट पार्ट में दर्द होता है जो इसका कारण कोई इंफेक्शन या बीमारी हो सकती है। आइए जानें कुछ ऐसे तरीके जिनसे सेक्स के दौरान होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है।

सेक्स के दौरान दर्द का उपचार 

फोरप्ले करें 
इंटरकोर्स से पहले फोरप्ले करना सेक्स के दौरान  होने वाले दर्द को कम करने में मददगार होता है। अगर दर्द होता है तो यह जरूरी है कि पेनीट्रेशन धीरे-धीरे किया जाए।

लुब्रिक़ेंट्स का इस्तेमाल करें 
सेक्स के दौरान दर्द की एक मुख्य वजह सूखेपन को माना जाता है। इसके लिए सेक्स के दौरान लुब्रिकेट्स का इस्तेमाल करना चाहिए। लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल कर पेनीट्रेशन के दौरान होने वाले दर्द  को कम किया जा सकता है। प्राइवेट पार्ट्स को साफ रखें प्राइवेट पार्ट्स को साफ रखना बेहद जरूरी है। इससे इंफेक्शन और एसटीडी रोगों से बचा जा सकता है।

माहौल बनाएं, भावनात्मक सुरक्षा प्रदान करें 
कई बार महिलाओं के मन में इंटरकोर्स के प्रति डर रहता है। इस डर के कारण सेक्स के दौरान प्राइवेट पार्ट में जो गीलापन होना चाहिए वह नहीं हो पाता। इस समस्या से निपटने का सबसे आसान तरीका है डर पर काबू पाना। अपने पार्टनर को इस डर से लड़ने में मदद करनी चाहिए। बातचीत करें और उनका सहयोग दें।
अगर इंटरकोर्स में अधिक दर्द होता है तो इसके विकल्प के तौर पर ओरल सेक्स, मसाज या साथ नहाने जैसी क्रियाओं का आनंद लिया जा सकता है।
अगर इंटरकोर्स के दौरान दर्द रहता है तो डॉक्टर से अवश्य सलाह लेनी चाहिए। कई बार यह दर्द अंदरुनी सूजन या किसी गंभीर चोट के कारण भी हो सकता है। इसलिए सेक्स समस्याओं को नजरअंदाज करने की जगह डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Friday, 21 October 2016

रजोनिवृत्ति के लक्षण ( महिलाओं में मासिक धर्म बंद होने के लक्षण आईये जानते है सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से )

रजोनिवृत्ति के लक्षण (  महिलाओं में मासिक धर्म बंद  होने के लक्षण  आईये जानते है  सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से )



स्त्रियों में मासिक धर्म के स्थायी रूप से बंद हो जाने को रजोनिवृत्ति कहते हैं. रजोनिवृत्ति होने पर स्त्री में शारीरिक और मानसिक दोनों बदलाव होते हैं. ज्यादातर स्त्रियों में ये परिवर्तन इतनी धीमी गति से होते हैं कि स्त्री को पता तक नहीं चलता है, लेकिन कुछ स्त्रियों को ज्यादा तकलीफ होती है. मेनोपौज़ या रजोनिवृत्ति कोई रोग नहीं है बल्कि यह स्त्री के शरीर की एक सामान्य प्रक्रिया है जिससे होकर एक उम्र के बाद हर महिला को गुज़रना पड़ता है. इसके बाद स्त्री के गर्भ धारण करने की सारी संभावनाएं समाप्त हो जाती हैं. अलग-अलग स्त्रियों में रजोनिवृत्ति अलग-अलग समय पर होती है. अधिकतर औरतों में रजोनिवृत्ति 45 वर्ष से 55 वर्ष के बीच में होता है. लेकिन यह 10 वर्ष से 40 वर्ष की आयु में भी हो सकती है, और यह भी हो सकता है कि 60 की आयु तक भी आपको रजोनिवृत्ति न हो.

रजोनिवृत्ति से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें :  

  • रजोनिवृत्ति होने के दौरान महिलाओं को कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्याएँ हो सकती हैं, कई बार ये समस्याएँ बहुत पीड़ा देती है.
  • रजोनिवृत्ति होने पर सुस्ती आना, नींद न आना, शरीर में शिथिलता रहना, शरीर के विभिन्न हिस्सों में दर्द रहना, मोटापा बढ़ना इत्यादि समस्याएँ भी हो सकती हैं.
  • रजोनिवृत्ति के लक्षण हर महिला में अलग-अलग होते हैं. किसी में अचानक मासिक धर्म आना बंद हो जाता है तो किसी में धीरे-धीरे.
  • रजोनिवृत्ति महिलाओं के वृद्धावस्था की ओर जाने के लक्षण हैं.
  • रजोनिवृत्ति होना प्राकृतिक है.
  • स्वस्थ महिलाओं को बिना किसी परेशानी के रजोनिवृत्ति हो जाता है यानी हर महीने मासिक के रक्त स्राव में कमी होते जाना और एक दिन पूरी तरह से बंद हो जाना.
  • अस्वस्थ महिलाओं या फिर जिनकी मासिक अनियमित हो, प्रसवकाल में उचित देखभाल न की गई हो, उन महिलाओं को माहवारी बंद होते समय कई परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है.

रजोनिवृत्ति के लक्षण :

  • बालों का पतला होना या बालों का गिरना.
  • ह्रदय की धड़कन का तेज़ होना.
  • जोड़ों का दर्द.
  • योनि का सूखापन – प्राकृतिक स्नेहन जो योनि की दीवारों पर होता है और जो कामोत्तेजना के दौरान बढ़ जाता है, रजोनिवृत्ति के दौरान इसकी मात्रा कम हो सकती है. योनि शुष्क हो जाती है और आप बहुत असहज महसूस करती हैं.
  • भटकाव और भूल जाना बहुत ज्यादा पसीना आना.
  • स्तनों का कोमल होना और उनमें दर्द होना.
  • सेक्स के प्रति रूचि कम होना.
  • घबराहट होना.
  • सिर में दर्द, चक्कर आना.
  • स्वभाव में चिड़चिड़ापन आना.
  • ज्यादा शारीरिक कमजोरी होना.
  • पेट से संबंधित समस्या होना.
  • पाचनशक्ति कमजोर होना.
  • उल्टियाँ होना.
  • लगातार कब्ज की समस्या होना.
  • मानसिक तनाव होना.
  • शरीर पर झुर्रियाँ पड़ने लगना.

समय से पहले रजोनिवृत्ति का कारण और ट्रीटमेंट


  • केवल 10 % स्त्रियाँ हीं रजोनिवृत्ति के समय डॉक्टर से सलाह लेती हैं.
  • आप एचआरटी- हॉरमोन थैरेपी (एचटी) का उपयोग कर सकती हैं जिसे कि हॉरमोन पुनर्स्थापन थैरेपी (एचआरटी) या हॉरमोन्स थैरेपी (पीएचटी) भी कहा जाता है.
  • इसके अलावा रजोनिवृत्ति के इलाज के अन्य विकल्पों तौर पर, मौखिक गर्भनिरोधक पिल्स तथा लगाने के लिए योनि की क्रीम का उपयोग कर सकती है.
  • रजोनिवृत्ति होने पर तनाव न लेते हुए हर दिन व्यायाम करना और संतुलित भोजन खाना शुरू कर देना चाहिए.

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Monday, 17 October 2016

महिलाएं चाहती हैं, आप जानें सेक्‍स के ये 12 राज...

महिलाएं चाहती हैं, आप जानें सेक्‍स के ये 12 राज...



सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त महिलाएं किसी पुरुष से क्‍या चाहती हैं, यह हमेशा से ही शोध का विषय रहा है. इस पर पहले भी काफी कुछ लिखा जा चुका है. इसी मुद्दे पर ताजातरीन रिसर्च के नतीजे सामने आए हैं. सेक्‍स से जुड़े विषय के एक्‍सपर्ट्स के अलावा 700 से ज्‍यादा महिलाओं ने खुलकर अपने विचार व्‍यक्‍त किए हैं. महिलाएं बिस्‍तर पर क्‍या चाहती हैं मर्द से, जानिए वो 12 राज...

1. सिर्फ कामक्रीड़ा पर ही हो पूरा ध्‍यान
बिस्‍तर पर महिला पार्टनर की यौन-इच्‍छा को तृप्‍त करने के लिए सबसे जरूरी चीज है- ‘जज्‍बा’. सर्वे में शामिल करीब 42 फीसदी महिलाओं ने यह बात स्‍वीकार की है. महिलाएं कई तरीके से पुरुषों के प्‍यार को महसूस करती हैं, जिनमें सबसे ज्‍यादा इनका ध्‍यान खींचता है आपके मुंह से की गईं ‘शरारतें’. आंखों में आंखें डालकर प्‍यार जताना, होठों को संवेदनशील अंगों पर फिराना, किसी और तरीके से देह को छूना महिलाओं को भाता है. जीभ के अगले भाग से नाजुक अंगों का स्‍पर्श भी महिलाओं का मन मचलने के लिए काफी होता है.


2. फोरप्‍ले की अहमियत सबसे ज्‍यादा
कामक्रीड़ा का असली मजा सिर्फ चरम तक पहुंचने पर ही नहीं है, बल्कि इसके हर पल का भरपूर आनंद लेना चाहिए. फोरप्‍ले भी इसका अहम पार्ट है, जिसका अपना मजा है. सर्वे में शामिल महिलाओं ने माना कि फोरप्‍ले के दौरान होने वाली उत्तेजना एकदम अलग तरह की होती है. महिलाओं ने कहा कि पुरुषों को सेक्‍स के मामले में थोड़ा ‘क्रिएटिव’ होना चाहिए. कुछ नया और एकदम अलग अंदाज में किया जाना महिलाओं को खूब भाता है.

3. ‘आनंद’ व ‘संतुष्टि’ में फर्क है
किंसले इंस्टिट्यूट के शोध में यह पाया गया कि पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं ने भी यह माना कि उन्‍हें कंडोम के बिना यौन संबंध ज्‍यादा अच्‍छा लगता है. पर महिलाओं ने यह भी माना कि दरअसल संभोग के दौरान कंडोम का इस्‍तेमाल किए जाने पर उन्‍हें ज्‍यादा सुकून मिलता है. यह सुकून 'प्रोटेक्‍शन' को लेकर होता है. सर्वे में शामिल महिलाओं ने कहा कि कंडोम यौन रोगों से बचाव का यह कारगर तरीका है. इसके इस्‍तेमाल से महिलाएं खुलकर सेक्‍स का भरपूर मजा ले पाती हैं.

4. धीरे-धीरे, आराम से...
सभी महिलाएं यही चाहती हैं कि उसके बेहद कोमल अंगों को शुरुआती दौर में ज्‍यादा तकलीफ न दी जाए. महिलाएं पुरुषों से चाहती हैं कि वे उसके सेंसिटिव अंगों के साथ संवेदनशीलता से ही पेश आएं. मतलब यह कि संभोग के दौरान वे चाहे तो जीभ व उंगलियों का इस्‍तेमाल करके जरूरी उत्तेजना पैदा करें, पर कष्‍ट देने से बाज आएं.

5. वातावरण का भी पड़ता है असर
शोध के दौरान 50 फीसदी महिलाओं ने स्‍वीकार किया कि संभोग के दौरान अनुकूल मौसम व वातावरण न होने की वजह से वे चरम तक न पहुंच सकीं. महिलाओं ने माना कि दरअसल पुरुषों के ठंडे पांव की वजह से उन्‍हें ज्‍यादा तकलीफ होती है. डॉ. होल्‍सटेज ने कहा कि सेक्‍स के दौरान वातावरण भी काफी मायने रखता है. अगर कमरे का तापमान अनुकूल रहता है, तो यह सेक्‍स का मजा बढ़ा देता है.

6. सेक्‍स के दौरान पोजिशन का भी रखें खयाल
सेक्‍स संबंध बनाने के दौरान पोजिशन का भी खयाल रखना बेहद जरूरी होता है. स्‍त्री के निचले भाग को अगर दो-तीन तकियों के सहारे थोड़ा-सा और ऊपर उठाकर संभोग किया जाए, तो इससे संसर्ग ठीक से हो पाता है. वह स्थिति भी बेहतर होती है, जब स्‍त्री लेटे हुए पुरुष के ऊपर आकर संभोग करती है. इससे स्त्रियां ‘उन’ अंगों में ज्‍यादा उत्तेजना महसूस करती हैं.
एक और पोजिशन महिलाओं व पुरुषों को अच्‍छा लगता है, वह है ‘डॉगी स्‍टाइल’. मतलब, जिसमें स्‍त्री घुटनों और हाथों के बल खुद को संतुलित किए रहती है और पुरुष उसके ठीक पीछे जाकर संभोग करता है.

7. तरीके तो और भी हैं...
ऑस्‍ट्रेलियन सेक्‍स रिसर्चर जूलियट रिचटर्स कहती हैं कि सर्वे में शामिल पांच में से केवल एक महिला ने माना कि वे केवल एकदम नॉर्मल तरीके से किए गए संभोग से ही चरम तक पहुंच जाती हैं. ज्‍यादातर युवा महिलाओं का मानना था कि वे अपने पार्टनर से चाहती है कि वे सेक्‍स के दौरान अपने हाथ और मुंह का भी ज्‍यादा इस्‍तेमाल करें. उन्‍हें अपनी किताब के लिए 19 हजार लोगों पर किए गए सर्वे के दौरान इस तथ्‍य का पता चला.

90 फीसदी से ज्‍यादा महिलाओं ने माना कि वे केवल सेक्‍स के दौरान अपने पार्टनर द्वारा मुख का भी इस्‍तेमाल किए जाने के बाद चरम तक पहुंचती हैं.
रिसर्च में पाया गया कि जब कामक्रीड़ा आरामदायक तरीके से, धीरे-धीरे, पर लगातार किया जाता है, तो जोड़े चरम तक जल्‍दी पहुंच जाते हैं.

8. जल्‍दबाजी की, तो गए ‘काम’ से
सर्वे में शामिल महिलाओं में से केवल पचास फीसदी ने कहा कि वे 10 मिनट या इससे कम वक्‍त में ही चरम तक पहुंच जाती हैं. सेक्‍स मेडिसिन के एक जर्नल में प्रकाशित स्‍टडी के मुताबिक, सेक्‍स में जल्‍दबाजी दिखलाने पर पुरुष तो संतुष्‍ट हो जाते हैं, पर महिलाएं चरम तक नहीं पहुंच पाती हैं. ऐसे में पुरुषों की जिम्‍मेदारी होती है कि वे बिना हड़बड़ी दिखलाए अपनी पार्टनर को लंबे गेम में साथ लेकर चलें.

9. संवेदनशील अन्‍य अंगों को पहचानें
सेक्‍स पर शोध करने वालों ने पाया है कि केवल G-स्‍पॉट ही आनंद देने के लिए पर्याप्‍त नहीं है, बल्कि महिलाओं के शरीर में और भी ऐसे भाग हैं, जहां संवेदना ज्‍यादा होती है. इसमें A- स्‍पॉट भी शामिल है, जहां सहलाने से महिलाओं का शरीर यौन क्रिया के लिए शारीरिक रूप से तैयार हो पाता है. इस काम में उंगलियों की कारस्‍तानी काम आती है.

10. तैयारी को ठीक से परखें 
कोई स्‍त्री संभोग के लिए तैयार है या नहीं, यह परखने में भी कई बार भूल हो जाती है. कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में लेक्‍चरर बरबरा कीसलिंग का मानना है कि सिर्फ बाहरी लक्षण से ही इसकी पहचान संभव नहीं है. इनकी नजर में ‘बटरफ्लाई पोजिशन’ सबसे ज्‍यादा बेहतर है.

11. ‘कीमत’ तो अदा करनी ही पड़ती है... 
अगर महिला अपने थकाऊ काम या नींद की कमी की वजह से परेशान है, तो इस स्थिति में वह मुश्किल से उत्तेजित होती है. ऐसे में पुरुषों की जिम्‍मेदारी बढ़ जाती है. पुरुषों को चाहिए कि वे व्‍यंजन पकाने या कपड़े धोने आदि काम में इनकी मदद करें. सर्वे में शामिल महिलाओं ने माना कि ऐसी स्थिति में जब पुरुष उनके काम में मदद करते हैं कि उन्‍हें बेहतर एहसास होता है.

12. जरूरी नहीं कि हर बार चरम तक पहुंचा ही जाए
महिला हर बार चरम तक पहुंच ही जाए, यह कोई जरूरी नहीं है. कई बार तनाव व थकान की वजह से ऐसा नहीं हो पाता. ऐसे में जबरन आधे घंटे तक ‘खेल’ जारी रखने की बजाए इसे खत्‍म करना बेहतर रहता है. चरम तक न ले जाने के लिए हर बार पुरुष ही जिम्‍मेदार नहीं होता. फिर भी अगर महिला चाहे, तो आप अपने हाथों और उंगलियों से उसे संतुष्‍ट कर सकते हैं. कुल मिलाकर इस क्रीड़ा का आनंद ही मायने रखता है.
अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार

यीस्ट संक्रमण के कारण , लक्षण और उपचार  शरीर की प्रणाली असंतुलित होने पर यीस्‍ट की समस्‍या होती है। इसमें योनि में जलन, खुजली, गाढ़ा स...