Wednesday, 22 February 2017

सेक्स करते समय खतरनाक पोजीशन से बचें आईये जानते है सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से



सेक्स करते समय खतरनाक पोजीशन से बचें आईये जानते है सुप्रसिद्ध सायको सेक्सोलॉजिस्ट ड़ा० बी०के० कश्यप से


जिन्दगी जीना हो तो स्त्री और पुरुष दोनों एक दुसरे का हर मोड़ पर ख्याल रखें। लेकिन क्या आप जानतें है सेक्स एक ऐसी क्रिया है जो पति और पत्नी ने एक नई उमंग और जोश भर देता है। शायद यही कारण है की सेक्स के दौरान लोग अलग अलग अंदाज और पोजीशन में सेक्स करना बेहद पसंद करते हैं। लेकिन आज हम आपको दुनिया के सबसे खतरनाक सेक्स पोजीशन के बारें में बतानें वाले हैं जो देता तो खूब मजा है लेकिन अगर हद पार हो जाए तो कई बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ जाता है। चलिए आज आपको ऐसे कुछ लोगो के बारे में बताएंगे जिनका सेक्स करते वक़्त किया हुआ एक्सपेरिमेंट सीधे ले गया उन्हें अस्पताल के बेड पर ।


आइए आपको बताये की इस तरह से सेक्स न करें

सेक्स के दौरान प्राइवेट पार्ट में गलत चीजों का गलत इस्तेमाल नुकसान देह होता है। अक्सर जब लड़की और लड़का सेक्स के दौरान अपने चरम पर होते है तब उन्हें होश नही होता है और वो इस कदर मदहोश हो जातें है की एक दुसरे प्राइवेट पार्ट में गलत चीजें डालने लगते हैं। इसका परिणाम यह हो सकता है प्राइवेट पार्ट को नुकसान पहुंच सकता है और फिर डॉक्टर के पास जाना पड़ सकता है।
इस तरह करे सेक्स: रिवर्स काऊ गर्ल: सेक्स का यह पोजीशन भी लड़कियों को बेहद भाता है और सेक्स के दौरान इस पोजीशन का उपयोग करने के बाद लड़कियां पूरी तरह से संतुष्ट हो जाती है और पुरुष पर उनका प्यार अधिक बढ़ जाता है।


इस तरह से Love Byte न बनाये: कपल्स में एक दूसरे के शारीर पर

लव मार्क देना बहुत ही आम बात है। मगर ek बॉयफ्रेंड ने कुछ इस
तरह से अपनी गर्लफ्रेंड को Love Byte दिया की उसके जान पर बन गई। दरअसल, लव मार्क इतनी जोर से लिया गया था की लड़की के शरीर में Blood Clote हो गया, यह समस्या इतनी गंभीर हो गई की लड़की को इसकेकारण हल्का सा दिमागी दौरा पड़ गया। उस क्लॉट को साफ़ कर के लड़की को ब्रेन डैमेज से बचाया गया।

प्यार से कोमल अंगो को चूमें: सेक्स के दौरान अक्सर लोग प्यार की निशानी बनानें पर आमदा रहते हैं। लेकिन अगर जबरदस्ती छोड़ के लड़की के निजी अंग को प्यार से चूमें में तो उनके अंदर सेक्स जाग उठता है और आपके साथ उस पल का मजा लेती है।

सेक्स के समय लिंग बिठाना: सेक्स के दौरान लोग अपने लिंग पर लड़की को बिठाकर उसका आनंद लेते हैं लेकिन एक बार एक आदमी के लिंग में मोच आ गई और उसे अस्पताल में जाना पड़ा।

सेक्स के दौरान वुमन ऑन टॉप: इस पोजीशन काफी पसंद करती लड़कियां। जिसमें सेक्स के दौरान लड़की मर्द के उपर बैठती है लेकिन
पूरा बल नही रखती है। इस क्रिया में वो सेक्स का आनंद लेती है और वो आनंददायक होता है।

डॉगी स्टाइल:

सेक्स के दौरान अधिकांश लड़कियों को डॉगी स्टाइल में सेक्स करना

बहुत ज्यादा पसंद है। इस पोजीशन में पुरुष लड़की के पीछे की तरफ

से सेक्स कर के उन्हें पूरी तरह उत्तेजित कर देता है।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Friday, 3 February 2017

पुरूषों में नपुंसकता के लक्षण

पुरूषों में नपुंसकता के लक्षण 



हार्मोंस में बदलाव के कारण भी पुरुषों में यह समस्या हो सकती है । कई बार पुरुष स्वस्थ होते  हुए भी किसी दुर्घटनावश { या Stress के कारण भी } वह नंपुसक हो सकता है। इसीलिए नपुंसकता के लक्षणों को जानना बेहद मुश्किल होता है। लेकिन फिर भी कुछ सामान्य सी बातों को जानकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पुरूष नंपुसक है या नहीं। आइए जानें पुरूषों में नपुंसकता के लक्षणों को।

ऐसे पुरुष में नपुंसक होने के लक्षण मौजूद होते हैं, जो संभोग के समय में सही तरीके से यौन क्रियाएं नही कर पाता या फिर बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता है। Erectile disfection कहते हैं या  नपुंसकता  का कारण  नहीं है।  
दरअसल नपुंसकता का संबंध सीधे तौर पर ज्ञानेन्द्रियों से होता है, ऐसे में पुरुष कई बार इस बारे में जागरूक नहीं हो पाते तो कई बार संकोचवश डॉक्टर से इस बारे में परामर्श नहीं ले पातें। जिससे ये रोग बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है। नपुंसक व्यक्ति की महिला साथी कभी पूर्ण रूप से संतुष्ट नहीं हो पाती इसलिए किसी अच्छे डॉक्टर से सम्पर्क  करना चाहिए.. 
कुछ लोग नपुंसक नहीं भी होते लेकिन घबराहट और मन में डर या किसी मानसिक बीमारी आदि के कारण वे उत्तेजित नहीं   हो पाते । भविष्य में यही डर और घबराहट ऐसे पुरुषों को नपुंसक बना देता हैं और घबराहट के कारण यह अपनी पार्टनर से दूर-दूर रहने लगते हैं ।

पुरूषों में बांझपन के लक्षण


  • जो पुरुष संभोग के दौरान सही तरीके से यौन क्रियाएं नहीं कर पाता या फिर बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता है तो उसमें कमी होती है।  यह नपुसंकता का लक्षण भी है ।
  • नपुंसकता होने पर पुरुष के लिंग में कठोरता या तो आती नहीं, आती है तो बहुत जल्दी शांत हो जाती है। संभोग के दौरान अचानक लिंग में कठोरता का कम होना ।
  • दरअसल नपुंसकता का संबंध सीधेतौर पर ज्ञानेन्द्रियों(सेंसेज) से होता है। कुछ लोग तो संकोचवश या जागरुकता के अभाव में इस बारे में सही जानकारी नही ले पाते हैं ।
  •  हालांकि नंपुसकता अधिक उम्र के व्यक्तियों में ज्यादा पाई जाती है । जिससे पुरुष महिलाओं के पास जाने से भी घबराने लगते हैं। उम्र बढ़ने के साथ ही यौन इच्छा में कमी होने लगती है ।
  •  
  • जो पुरुष सेक्स क्रिया करने में रूचि नहीं रखते और जिनमें उत्तेजना नहीं होती वे पूर्ण नपुंसक होते हैं। जबकि जो पुरुष एक बार तो उत्तेजित होते हैं लेकिन घबराहट या किसी अन्य कारण से अक्‍सर जल्दी शांत हो जाते हैं उन्हें आंशिक नपुंसक कहा जाता है।
  • संभोग करने के दौरान या करने से पहले घबराहट होना। क्योंकि ऐसे लोगों में विश्वास की कमी होती है और उनके अंदर डर सा बना रहता है।

  • संभोग के दौरान जल्दी डिस्चार्ज हो जाना।
  • संभोग के दौरान अचानक लिंग में कठोरता का कम होना।

  • नपुंसकता के कारण पुरुष का लिंग सामान्य से छोटा हो जाता है जिससे पुरुष ठीक तरह से संभोग करने में असमर्थ होता है।
  • नपुंसक लोगों में आत्मभविश्वास की कमी होना। अक्सर ऐसे लोग भीड़ से घबराते हैं और महिलाओं से बात करने में दिक्कत होती है।
  • नपुंसक व्यक्ति के अंडकोष छोटे हो जाते हैं ।
  • नपुंसकता के कारण व्यक्ति थकान महसूस करता है ।
  • आत्मभविश्वास की कमी होना ।
  • लोगों से बातचीत के दौरान घबराना ।
  • भीड़ में घबराना या महिलाओं से बात करने में झिझकना ।
  • नपुंसक व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिससे सही तरह से संभोग ना करने के कारण पीडि़त व्यक्ति बीमार रहने लगता है। और मन में तरह तरह की बातें सोचने लगता है
  • बांझपन के कारण व्यक्ति के प्रजनन अंग कमजो़र हो जाते हैं।
  • भागदौड़ भरी जिंदगी ने लोगों को न सिर्फ मानसिक और शारीरिक रूप से कमजोर बना दिया है। फास्ट फूड का ज्यादा प्रयोग करना और खान-पान में पोषक तत्वों की कमी इसका प्रमुख कारण है।   

हमें आशा करते है कि आप इस POST को पढ़ने के बाद अपने जिंदगी को खुशनुमा बना सकते है 
अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735



Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780


सम्बन्ध बनाने के दौरान दर्द क्यूँ होता है

         सम्बन्ध बनाने के दौरान दर्द क्यूँ होता है  अगर प्यार करने के दौरान आपको दर्द का एहसास होता है तो सबसे महत्वपूर्ण यह नोट करना...